HomeHimachal Newsहिमाचल : किसी बच्चे में फ्लू के लक्षण, तो शिक्षक न बुलाएं...

हिमाचल : किसी बच्चे में फ्लू के लक्षण, तो शिक्षक न बुलाएं स्कूल

हिमाचल प्रदेश की ब्रेकिंग न्यूज़ आपको बता दे हिमाचल में बढ़ रहे कोरोना (corona cases in Himachal) के मामलों को देखते हुए स्कूलों में बड़ी गैदरिंग पर लगी रोक के कारण अब स्कूल मॉर्निंग असेंबली (Himachal school morning assembly) भी नहीं हो पाएगी। उच्च शिक्षा विभाग के अतिरिक्त निदेशक की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार स्कूलों को सेनेटाइज करना जरूरी है और किसी भी तरह की गैदरिंग अब स्कूलों में नहीं होगी।

Himachal Schools : स्कूलों और कार्यालयों पर हुआ बड़ा फैसला (CLICK HERE)

ताजा खबर आपको बता हिमाचल में स्कूलों में बच्चों के लिए मास्क लगाना जरूरी किया गया है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी होगा, लेकिन गैदरिंग का अर्थ मॉर्निंग असेंबली से भी है। शिक्षा सचिव मनीष गर्ग (Education Secretary Manish Garg) ने बताया कि वर्तमान में जो स्थिति कोरोना की है, उस हिसाब से दिशा-निर्देश जारी हो गए हैं और मॉर्निंग असेंबली भी गैदरिंग की श्रेणी में ही आएगी। इसलिए स्कूलों में नहीं होगी।

Himachal school news today (CLICK HERE)

उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग को लगातार स्कूलों में कोरोना के मामले मॉनिटर करने के लिए कहा गया है। फिलहाल परहेज में ही सबका बचाव है। गौरतलब है कि राज्य के स्कूलों में कोरोना की पहली लहर के दौरान ही 13 अगस्त, 2020 को मॉर्निंग असेंबली रोक दी गई थी। तब से लेकर अब तक मॉर्निंग असेंबली को बहाल करने के आदेश नहीं हुए हैं।

अब पिछली कैबिनेट के बाद प्रधान सचिव स्वास्थ्य की ओर से यह आदेश जारी किए गए हैं कि स्कूलों में गैदरिंग न हो और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो। मानसून ब्रेक के बाद दो दिन पहले ही स्कूल खुले हैं और इनमें मॉर्निंग असेंबली नहीं हो पाएगी। जिस बच्चे में फ्लू की तरह के कोई लक्षण होंगे, उसे भी स्कूल नहीं बुलाया जाएगा। वहीं विभाग ने शिक्षकों से आग्रह किया है कि वह बच्चों को जागरूक करते रहें और किसी तरह के लक्षण होने पर उन्हें कक्षा में न आने को कहें।

RELATED ARTICLES

Most Popular