HomeHimachal NewsCM जयराम की दो टूक : पेंशन चाहिए तो नौकरी छोड़कर MLA...

CM जयराम की दो टूक : पेंशन चाहिए तो नौकरी छोड़कर MLA का चुनाव लड़ें सरकारी कर्मचारी

In the cabinet meeting in Himachal Pradesh, MLAs are now allowed to take room rent without limit during the tour-programme. This matter arose in the House on the last day of the budget session of the Legislative Assembly after the news was published in the media regarding this. When the news related to the matter became headlines, CM Jai Ram Thakur was seen in the house on the last day of the budget session. CM Jai Ram Thakur said that on this news related to MLAs, people are writing wrong comments on social media that when employees do not get pension then why MLAs.

Cabinet meeting in Himachal Pradesh में विधायकों को टूर-प्रोग्राम के दौरान अब बिना लिमिट के रूम रेंट पर लेने की छूट है. इसको लेकर मीडिया में खबरें छपने के बाद विधानसभा के बजट सत्र के अंतिम दिन सदन में यह मामला उठा.

मामले से जुड़ी खबरें सुर्खियां बनने पर सीएम जयराम ठाकुर बजट सत्र के अंतिम दिन सदन में तलख दिखे. सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि विधायकों से जुड़ी इस खबर पर सोशल मीडिया पर लोग गलत कमेंट लिख रहे हैं कि जब कर्मचारियों को पेंशन नहीं तो विधायकों को क्यों.

हिमाचल में नौकरियों ही नौकरियों : हजारों पदों पर भर्ती, JBT को भी..

इस पर सीएम ने कहा कि ऐसे कर्मचारी नौकरी छोड़कर चुनाव लड़ें और पेंशन के हकदार बन जाएं. सीएम ने विधायकों के आवास और यात्रा भत्ते बढ़ाने की बात को सदन में खारिज कर दिया और कहा कि विधायकों के खिलाफ इस प्रकार का व्यवहार गलत है.

अपनी बात आई तो पक्ष और विपक्ष हुआ एक

प्रश्नकाल समाप्त होने के बाद Congress MLA Sukhwinder Singh Sukhu ने प्वाइंट आफ ऑर्डर के तहत विधायकों के भत्ते बढ़ाने संबंधित मामला उठाया. उन्होंने कहा कि विधायकों के भत्ते बढ़ाए जाने की बात से जनता के बीच में फजीहत हो रही है और सैर-सपाटे के लिए राशि बढ़ाने की बात से विधायकों की छवि खराब हो रही है. उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से इस मामले में कड़ा संज्ञान लेकर कार्रवाई करने और मुख्यमंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की. कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने भी इस मामले में कार्रवाई की मांग की. विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने व्यवस्था दी कि यह चिंता का विषय है और इस मामले में संज्ञान लेकर कार्रवाई होगी.

RELATED ARTICLES

Most Popular