HomeHimachal Newsस्कूल गिराकर पार्किंग-शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बना रही जयराम सरकार, विरोध में उतरे छात्र

स्कूल गिराकर पार्किंग-शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बना रही जयराम सरकार, विरोध में उतरे छात्र

अगर सरकार स्कूल गिराकर पार्किंग और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स बनवाने लगे, तो फिर विकास की उम्मीद बेमानी है. मामला हिमाचल के मंडी (Mandi) शहर का है. सीएम जयराम ठाकुर के गृह जिले मंडी शहर के सबसे पुराने ब्वॉज स्कूल के एक हिस्से में यू-ब्लाक में केंद्रीय प्राथमिक पाठशाला के भवन को गिराया गया है. यहां शॉपिंग माल और पार्किंग बनाने का मुद्दा विवादों में घिर गया है. अब इस विजय सीनियर सेकेंडरी स्कूल (बाल) के छात्रों ने निर्माण बंद करवाने को लेकर प्रदर्शन किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चार दिनों से विरोध कर रहे छात्रों ने शुक्रवार को कक्षाओं का बहिष्कार कर दिया और स्कूल के गेट के बाहर तीन घंटे तक धरना दिया. इस दौरान कंस्ट्रक्शन कंपनी व जिला प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी की.

समाचार पत्रों में छपी खबर के अनुसार, छात्रों के प्रदर्शन को देखते हुए एसडीएम सदर रितिका जैन व थाना प्रभारी सदर विनोद कुमार पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे. वह करीब एक घंटे तक छात्रों को समझाने का प्रयास करते रहे, लेकिन छात्र टस से मस नहीं हुए. बाद में स्कूल प्रबंधन के हस्तक्षेप के बाद छात्र स्कूल परिसर में गए. वहां रितिका जैन ने उनकी व स्कूल प्रबंधन की बात सुनी. छात्रों का आरोप है कि कंस्ट्रक्शन कंपनी शॉपिंग माल व पार्किंग के लिए स्कूल की जमीन पर जबरदस्ती कब्जा कर रही है.

शिक्षकों ने बना रखी थी पार्किंग, निर्माण के लिए की मनाही तो प्रपंच
मीडिया से बातचीत में कंस्ट्रक्शन कंपनी के अधिकारी नीतिश शर्मा ने कहा कि बहुमंजिला पार्किंग और शापिंग कांप्लेक्स सरकार बनवा रही है. नियमों के तहत कार्य हो रहा है. कुछ शिक्षकों ने स्कूल परिसर में पार्किंग बना रखी थी, निर्माण कार्य के दौरान गाड़ियों को हटाने के लिए कहासुनी के बाद बच्चों को उकसाया जा रहा है.

क्यों हो रहा है विरोध
दरअसल, मंडी शहर में पार्किंग बड़ी समस्या है. लेकिन जहां पार्किंग बनी है, वहां आम लोगों को फायदा नहीं हुआ है. सेरी मंच के पास केवल सरकारी वाहनों को खड़े होने की अनुमति है. वहीं, भ्यूली में भीमाकाली मंदिर में बनी पार्किंग में स्लॉट बुकिंग होती है और यानी जिसे स्लॉट मिलेगी, उसी की गाड़ी खड़ी होगी. यहां पर लगातार गाड़ियां खड़ी रहती है और आम लोगों को फायदा नहीं मिलता है. अब स्कूल के पास बनी पार्किंग में भी कुछ ऐसा ही अंदेशा है कि यहां केवल आस पास के रहने वाले लोगों को ही फायदा होगा.

RELATED ARTICLES

Most Popular