HomeHimachal Newsमहंगाई का झटका : डिपुओं में बढ़े सरसों तेल के दाम, रिफाइंड...

महंगाई का झटका : डिपुओं में बढ़े सरसों तेल के दाम, रिफाइंड तेल की कीमतों में भी इजाफा

Mustard oil prices increased in Himachal depots. After the Corona period, the life of common people was still coming back on track that now inflation has made it difficult for them to live. Let us tell you that mustard oil and refined oil used in the kitchens of common people have become expensive. According to the latest information, the price of mustard oil has increased by Rs 15 and refined oil by Rs 20. With this, now the people of Himachal will have to pay Rs 180 to 240 per liter on buying mustard oil from the market and the consumers of Himachal will have to pay a total of Rs 170 plus Rs 20 more on refined oil.

Mustard oil prices increased in Himachal depots

कोरोना काल के बाद अभी आम लोगों की जिंदगी पटरी पर आ ही रही थी कि अब महंगाई ने उनका जीना मुश्किल कर दिया है। बता दें कि हर खास से आम लोगों के रसोई घरों में इस्तेमाल होने वाला सरसों का तेल तथा रिफाइंड तेल महंगा हो गया है।

ताजा मिली जानकारी के मुताबिक सरसों तेल पर 15 रुपए तथा रिफाइंड तेल की कीमतों में 20 रुपए का इजाफा हुआ है। इसी के साथ अब हिमाचल के लोगों को बाजार से सरसों का तेल खरीदने पर 180 से 240 रुपए प्रति लीटर तथा रिफाइंड तेल पर हिमाचल के उपभोक्ताओं को 20 रुपए अधिक के साथ कुल 170 रुपए का भुगतान करना पडे़गा।

हिमाचल के डिपुओं में भी बढ़े दाम

यहां तक की सस्ते राशन की दुकानों यानी उचित मूल्य की दुकानों में भी तेल महंगा हुआ है। इसके तहत अब एपीएल परिवार के लोगों को तेल पर पांच रुपए अधिक के साथ कुल 156 रुपए तथा बीपीएल परिवार के लोगों को चार रुपए अधिक के साथ कुल 151 रुपए का भुगतान करना रहेगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए बागेश्वरी महिला मंडल सुधेड़ की अध्यक्ष सुनीता ठाकुर ने कहा कि सरसों तेल व रिफाइंड के महंगे होने से महिलाओं की दिक्कतें बढ़ गई हैं।

इससे महिलाओं की रसोई का बजट भी बिगड़ गया है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि आमजन मानस को राहत देने के लिए सरकार को खाद्य पदार्थों के दामों पर नियंत्रण करने की दिशा में कदम उठाना चाहिए।

RELATED ARTICLES

Most Popular