HomeHimachal Newsमहंगाई की मार: दो माह में प्रति क्विंटल 30% तक बढ़ गए...

महंगाई की मार: दो माह में प्रति क्विंटल 30% तक बढ़ गए सरिया के दाम

Building a house in Himachal Pradesh has become very expensive. Here the rates of rebar, cement, sand-gravel etc. have suddenly increased. Within two months, the rates of bars have gone up by 30 per cent per quintal. In the upper areas of the capital Shimla, the prices of bars have gone up to Rs 8,600 to Rs 8,800 by adding GST. The rates of cement have also increased to Rs 465 per bag. Same is the case with other parts of the state. In the inaccessible areas, the bars are reaching very expensive. The price of square pipe has reached 10 thousand rupees per quintal.

हिमाचल प्रदेश में मकान बनाना बहुत महंगा हो गया है। यहां सरिया, सीमेंट, रेत-बजरी आदि के रेट एकाएक बढ़ गए हैं। दो महीने के भीतर सरिया के रेट प्रति क्विंटल 30 फीसदी तक बढ़ गए हैं।

Sariya cement Reta Bajri all expensive

सरिया, सीमेंट, रेत-बजरी सब महंगा

राजधानी Shimla के ऊपरी क्षेत्रों में Sariya के दाम जीएसटी जोड़कर 8,600 से लेकर 8,800 रुपये तक पहुंच गए हैं। Cement के रेट भी बढ़कर 465 रुपये प्रति बैग तक हो गए हैं। यही हाल प्रदेश के अन्य हिस्सों के हैं। दुर्गम क्षेत्रों तक तो Sariya बहुत ही महंगा पहुंच रहा है। स्क्वेयर पाइप का दाम 10 हजार रुपये प्रति क्विंटल तक पहुंच चुका है।

पिछले दो महीने में Sariya के रेट ने करीब 2,000 रुपये की वृद्धि के साथ अपना रिकॉर्ड बनाया है। पिछले एक साल में करीब 2,400 से 2,500 रुपये तक की बढ़ोतरी हो चुकी है। दो साल में Sariya करीब 3,500 से 3,800 रुपये बढ़ चुका है। Cement के रेट की भी यही स्थिति है।

दो साल पहले जहां सीमेंट 410 रुपये प्रति बैग के हिसाब से मिल रहा था, वह अब करीब 465 रुपये पहुंच चुका है। यानी यह 55 रुपये तक बढ़ चुका है। ये Shimla के रेट हैं। अलग-अलग क्षेत्रों में यातायात की लागत के हिसाब से इसमें फर्क पड़ता है। बजरी का भी यही हाल है। शिमला में जो बजरी 28 रुपये प्रति वर्ग फुट तक मिलती थी, अब वह 35 रुपये तक पहुंच गई है। रेत भी महंगी हुई है।

इसमें राज्य का नियंत्रण नहीं : धीमान
हिमाचल सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग आरडी धीमान ने बताया कि सरिया के रेट राष्ट्रीय स्तर पर बढ़े हैं। इसमें राज्य का नियंत्रण नहीं है। जहां तक सीमेंट की बात है तो तुलनात्मक प्रदेश में यह फिर भी कम बढ़ा है। इस संबंध में समय-समय पर हिमाचल प्रदेश की सीमेंट कंपनियों से बात की जाती है।

जिला सरिया सीमेंट
(रुपये प्रति क्विंटल) (रुपये प्रति बैग)
मंडी 8,400 450
कुल्लू 8,200 468
शिमला 8,800 450/520
हमीरपुर 7,600 415/420
धर्मशाला 8,200 435
चंबा 8,400 450
बिलासपुर 7,800/8,200 420/425
ऊना 7,500/7,800 422/425

RELATED ARTICLES

Most Popular