HomeHimachal Newsबड़ी खबर : जोइया मामा मानदा नेईं नारे की गूंज का असर...

बड़ी खबर : जोइया मामा मानदा नेईं नारे की गूंज का असर 527 विद्यार्थियों के भविष्य पर

Government Senior Secondary School, Halahan. It has also affected the future of 527 students studying in the state. Examinations are going on in the school and five teachers have been transferred from here. The posts of teachers of History and Economics are already vacant. The responsibility of the children taking education in the school has remained with only a few teachers. The involvement of five teachers of Halahan school was found among those who raised slogans of 'Joiya Mama Manada Nein' in Shimla regarding the old pension.

पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर तीन मार्च को Himachal Pradesh Legislative Assembly का घेराव करने के दौरान पहाड़ी बोली में लगाए गए Joia Mama Manada Nein नारों की गूंज का असर Government Senior Secondary School, Halahan. में शिक्षा ग्रहण कर रहे 527 विद्यार्थियों के भविष्य पर भी पड़ा है। स्कूल में परीक्षाएं चल रही हैं और यहां से पांच शिक्षकों का तबादला कर दिया गया है।

इतिहास और अर्थशास्त्र के शिक्षकों के पद पहले से खाली हैं। स्कूल में शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों का जिम्मा मात्र कुछ अध्यापकों पर रह गया है। पुरानी old pension को लेकर Shimla में लगे जोइया मामा मानदा नेईं के नारे लगाने वालों में Halahan school के पांच शिक्षकों की संलिप्तता पाई गई थी।

After this the five were transferred to Shimla and Mandi. However, two TGTs of the school Omprakash Sharma and Dharam Singh Sharma, DPE Surendra Singh, DM Dalip Sharma and Shastri Manoj Kumar have been transferred.

विद्यालय के कार्यवाहक प्रधानाचार्य रामभज शर्मा ने बताया कि स्कूल में प्रवक्ता अर्थशास्त्र का पद तीन वर्ष और इतिहास प्रवक्ता का पद दो वर्षों से रिक्त हैं। प्रधानाचार्य का पद चार वर्ष, शारीरिक शिक्षक, अधीक्षक व सीनियर असिस्टेंट के पद भी खाली हैं।

उन्होंने बताया कि विद्यालय में बच्चों की संख्या 527 है। पांच अध्यापकों के स्थानांतरण के बाद भाषा अध्यापक व वाणिज्य प्रवक्ता ही नियमित अध्यापक रह गए हैं। एसएमसी अध्यक्ष पं. ब्रह्मदत्त शर्मा, उपाध्यक्ष रणदीप खाजटा और बलदेव ठाकुर, प्रताप ठाकुर, उदय चौहान, सुरेंद्र आदि ने कहा कि शिक्षकों का तबादला वार्षिक परीक्षाओं से ठीक पहले करना दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने शीघ्र स्टाफ की तैनाती की मांग की है। उपनिदेशक उच्च शिक्षा सिरमौर कर्मचंद धीमान ने बताया कि सरकार के आदेश पर स्कूल के अध्यापकों के तबादले किए गए हैं। उन्होंने माना कि एक साथ तबादलों से स्कूल शैक्षणिक कार्य प्रभावित हुआ है। उम्मीद है कि जल्द शिक्षकों की तैनाती होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular