HomePolitical News in Hindi | राजनीति News in Hindiहिमाचल प्रदेश में बिजली-पानी FREE, महिलाओं का किराया आधा

हिमाचल प्रदेश में बिजली-पानी FREE, महिलाओं का किराया आधा

Chamba: In Himachal Pradesh, women will get 50% discount on fares while traveling in transport corporation buses. From July 1, consumers consuming 125 units or less electricity per month in the state will not have to pay any bills. This will benefit 11 and a half lakh consumers of the state. Apart from this, people of rural areas of the state will also not have to pay water bills. Chief Minister Jai Ram Thakur made these announcements during the 75th State Level Himachal Day celebrations organized at the historic Chaugan in Chamba on Friday. Earlier, along with unfurling the national flag, the Chief Minister also took salute at the march past of volunteers of Police, Home Guard, NCC and NSS. IPS officer Mayank Chaudhary presided over the parade. The Chief Minister has also announced an amount of Rs 5 crore for the construction of Holi-Uttara road during this period. He also announced to make available the budget as soon as the paper formalities are completed for the construction of mini secretariat building at district headquarter Chamba. The Chief Minister said that despite the dire circumstances of the Corona epidemic, the pace of development in the state has not been allowed to stop. The state government is providing relief to every section through various welfare schemes.

चंबा : हिमाचल प्रदेश में महिलाओं को परिवहन निगम की बसों में सफर के दौरान किराए में पचास फीसदी की छूट मिलेगी। पहली जुलाई से प्रदेश में प्रतिमाह 125 यूनिट या इससे कम बिजली खपत करने वाले उपभोक्ताओं को कोई बिल नहीं अदा करना होगा। इससे प्रदेश के साढ़े 11 लाख उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। इसके अलावा प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को पानी का बिल भी अदा नहीं करना होगा।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ये घोषणाएं शुक्रवार को चंबा के ऐतिहासिक चौगान में आयोजित 75वें राज्यस्तरीय हिमाचल दिवस समारोह के दौरान कीं। इससे पहले मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ ही पुलिस, होमगार्ड, एनसीसी और एनएसएस के स्वयंसेवियों के मार्चपास्ट की सलामी भी ली। परेड की अगवाई आईपीएस अधिकारी मयंक चौधरी ने की।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान होली-उतराला मार्ग के निर्माण के लिए पांच करोड़ रुपए की राशि देने का ऐलान भी किया है। उन्होंने जिला मुख्यालय चंबा में मिनी सचिवालय भवन के निर्माण हेतु कागजी औपचारिकताएं पूर्ण होते ही बजट उपलब्ध करवाने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी की विकट परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश में विकास की रफ्तार को थमने नहीं दिया गया है। प्रदेश सरकार हरेक वर्ग को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से राहत प्रदान कर रही है।

गत साढे़ चार वर्षों के दौरान प्रदेश में विकास के नए आयाम स्थापित हुए हैं। उन्होंने इस दौरान प्रदेश सरकार की विभिन्न कल्याणकारी नीतियों और योजनाओं की भी विस्तार से जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने समारोह के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली प्रदेश की विभूतियों को भी सम्मानित किया।

सिविल सर्विस पुरस्कार की श्रेणी में कोरोना महामारी के दौरान बच्चों की शिक्षा हेतु बेहतर कार्य के लिए जिला प्रशासन कुल्लू और कोविड टीकाकरण के लिए जिला प्रशासन किन्नौर को पुरस्कृत किया गया। इन दो जिलों के उपायुक्तों ने मुख्यमंत्री के हाथों सम्मान हासिल किया। प्रेरणास्रोत पुरस्कार की श्रेणी में पुलिस बैंड हारमनी ऑफ दि पाइन्स, मंडी जिला के डा. टेक चंद भंडारी, एक एनजीओ को सम्मानित किया गया, जबकि देश के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी का यही पुरस्कार उनके बेटे ने ग्रहण किया।

राज्य नवाचार पुरस्कार मुख्यमंत्री संकल्प योजना हेतु निदेशक आईटी मुकेश रेप्सवाल और नौणी विश्वविद्यालय की वैज्ञानित डा. निवेदिता शर्मा को दिया गया। इसके अलावा हिमाचल गौरव पुरस्कार की श्रेणी में पद्मश्री बाबा इकबाल सिंह का पुरस्कार सरदार जगजीत सिंह, विद्यानंद सरैक, ललिता वकील, साहित्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य के लिए डा. गौतम व्यथित व डा. प्रत्यूष गुलेरी और मूर्तिकला के लिए विजय राज उपाध्याय को प्रदान किया जाएगा।

समारोह के दौरान प्रदेश के विभिन्न जिलों के सांस्कृतिक दलों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए। इस समारोह में विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार, सांसद किशन कपर, मुख्य सचेतक विक्रम जरयाल, विधायक पवन नैयर, जियालाल कपूर, मुख्य सचिव राम सुभग सिंह, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू, सचिव जीएडी भरत खेड़ा, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक हरबंस ब्रेसकोन व उपायुक्त चंबा डीसी राणा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular